jalte Diye hindi Lyrics from Prem Ratan Dhan Payo (2015)

jalte Diye Lyrics from Prem Ratan Dhan Payo (2015) this song is sung by Anweshana, Harshdeep Kaur, Shabab Sabri, Vineet Singh. composed by Himesh Reshammiya with lyrics penned by Irshad Kamil.
singer Anweshana, Harshdeep Kaur, Shabab Sabri, Vineet Singh
 lyrics penned by Irshad Kamil.
 composed by Himesh Reshammiya

Jalte Diye Lyrics
आज  अगर  मिलान  की  रात  होती
जाने  क्या  बात  होती
तोह  क्या  बात  होती

सुन्न  ते है  जब  प्यार  हो  तो
दिए  जल  उठते  है
तन  में  मन  में  और  नयन  में
दिए  जल  उठते  हैं

आजा  पिया  आज
आजा  पिया  आज  हो ..
आजा  पिया  आज  तेरे  ही  तेरे  ही  लिए
जलते  दिए
बितानी  तेरे  साये  में  साये  में
ज़िँदग़ानि  बितानी  तेरे  साये  में
साये  में

कभी  कभी
कभी  कभी  ऐसे  दीयों  से
लग  है  जाती आग  भी
धुले  धुले  से अंचलों  पे
लग  है  जाते  दाग  भी
है  वीरानो  में  बदल  ते
देखे  मन  के  बाग़  भी

सपनों में  श्रृंगार हो  तोह
दिए  जल  उठते  हैं
ख्वाहिशों  के  और  शर्म  के
दिए  जल  उठते  हैं

आजा  पिया  आज
तेरे  ही , तेरे  ही  लिए  जलते  दिए
बितानी  तेरे  साये  में , साये  में
ज़िँदग़ानि  बितानी  तेरे  साये  में
साये  में

मेरा  नहीं
मेरा  नहीं  है  वह  दिया
जो  जल  रहा  है  मेरे  लिए
मेरी  तरफ  क्यों  यह  उजाले
आये  है  इनको  रोकिये
यूँ  बेग़ानि  रौशनी  में
कब  तलाक  कोई  जिए

साँसों  में  झंकार  हो  तो
दिए  जल  उठते  हैं
झांझरों  में  कंगनों  में
दिए  जल  उठते  हैं

आजा  पिया  आज
हम्म  जलते  दिए
बितानी  तेरे  साये  में , साये  में
ज़िँदग़ानि  बितानी  तेरे  साये  में
साये  में

साये  में  साये  तेरे
साये  में  तेरे  बितानी ज़िंदगानी
साये  में  साये  तेरे
साये  में  तेरे  बितानी  ज़िंदगानी

Comments

comments

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *